Posts

Showing posts from July, 2007

AJAX और हिंदी

हाँ! अब आप हिंदी में भी भी ब्लोग कर सकते हैं। गूगल में तो कुछ अलग ही बात है। इतनी आसानी से मैंने कभी हिंदी नही लिक्खी थी। चलो, इसी बहाने मेरी हिंदी कुछ और शुद्ध हो जायेगी। इस लेख का मुख्य उद्देश्य है आपको AJAX नामक टेक्नोलॉजी (इसे हिंदी में क्या कहते हैं?) के एक अंग से परिचित करवाना। AJAX का पूर्ण नाम है Asynchronous Javascript and XML और इसी के मध्यम से मैं अभी इन्टरनेट के द्वारा ब्लॉगर के इस सुन्दर यन्त्र का फूलपूर्वक इस्तमाल कर रह हूँ। दरसल AJAX द्वारा हम Desktop जैसी look aur feel web applications को दे सकते हैं। पर आज के लिए बस इतना ही। अगले लेख में मैं इस टेक्नोलॉजी पर ज्यादा विस्तार से बात करूंगा। तब तक के लिए शुभ रात्री, शब्बा खैर, और अपना ख़याल जरूर रखियेगा। तब तक के लिए नमस्कार। ;-)
Firefox in Firefox! Here's something of a "Do you know?" variety. One of the great things about Firefox is that its interface is highly modular and creating an extension or a plugin is as simple as editing xml files and writing Javascript code (things most web designers do on a daily basis). Firefox renders its interface with the appropriate theme by evaluating an xml file. So effectively, Firefox renders itself by evaluating its own interface file and placing widgets as defined in it in a blank application window. Well, I just came to know that it's possible to load Firefox within itself by asking it to evaluate its own interface using a chrome:// uri. Don't be surprised - just try typing chrome://browser/content/browser.xul in the address bar and see the results. The new interface is a fully functional Firefox! Now, for the more curious among you - the reason why this works is because the chrome:// uri is interpreted by the firefox engine as a reference to